घर पर सही रक्त ग्लूकोज़ कैसे पढ़ें? ये रहे १० नुस्ख़े

मधुमेह के रोगियों के लिए,  मधुमेह के प्रबंधन और  नियंत्रण में तथा किसी आपात स्थिति को रोकने में नियमित रूप से रक्त शर्करा का परीक्षण एक अनिवार्य हिस्सा है। लेकिन, इस महत्वपूर्ण  हिस्से में दो सबसे बड़े कारक भूमिका निभाते हैं।

१) सही  ग्लूकोज़ मीटर का चयन ( जिसके बारे में  हमने अपने पिछले ब्लॉग में चर्चा  की थी “एक ग्लूकोज़ मीटर चुनने के लिए 7  सुझाव”)

२) परीक्षण के लिए सही सुझावों पर अमल

चूंकि रक्त शर्करा के स्तर का परीक्षण आसानी से कहीं भी और कभी भी किया जा सकता है, मधुमेह के अधिकांश रोगी अक्सर घर पर  ही अपन्नी रक्त शर्करा की जाँच करते हैं।  लेकिन अपनी रक्त शर्करा का परीक्षण करते समय,  कई ऐसे  मुद्दे हैं जो परिणामों की सटीकता को प्रभावित कर सकते है और इसीलिए ऊपर दिए गए दो कारकों  को नज़रंदाज नहीं किया जा सकता। आखिरकार,  आप यही तो तय करना चाहते हैं कि क्या आप ख़ुद को रक्त शर्करा नियमित करने के लिए दवा की सही मात्रा/ इंसुलिन की खुराक दे रहे हैं। अपनी रक्त शर्करा की वास्तविक संख्या जानना आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है ताकि उसे नियंत्रित रखने के लिए आप अपने डॉक्टर के साथ काम कर सकें। है न?

तो, नीचे दिए गए कुछ सुझाव निश्चित रूप से सही परिणाम प्राप्त करने में, किसी भी संक्रमण की रोकथाम करने और आपकी  रक्त शर्करा की बेहतर निगरानी करने में आपकी मदद कर सकते हैं।

घर पर सटीक रक्त शर्करा परीक्षण के लिए नुस्ख़े:

हाथ  की स्वच्छता और तापमान बनाए रखें

गंदे, तेल या पसीने से तर हाथ आपकी  रीडिंग बदल सकते हैं । कई बार बचा हुए भोजन, लोशन या कोई अन्य तरल पदार्थ गलत रीडिंग का कारण बन सकता है। इसलिए, गर्म पानी और  साबुन से अपने हाथ धोना याद रखें । उन्हें  एक साफ  तौलिए  से अच्छी तरह से सुखाएँ।  ऐसा इसलिए क्योंकि गीले हाथ भी रक्त और पानी के मिश्रण के कारण रक्त के नमूने को कमजोर कर सकते हैं,  जिससे आपकी  रीडिंग बदल  सकती है और परिणामस्वरूप  गलत संख्या मिल सकती है। इसके अलावा, यदि आप अल्कोहल वाली रुई का उपयोग कर रहे हैं,  तो सुनिश्चित करें कि वह हिस्सा  परीक्षण से पहले पूरी तरह सूखा रहे।

इसी तरह,  ठंडे  या गर्म हाथ आपकी  रीडिंग बदल सकते हैं । इसलिए, अगर यह एक ठंडा दिन है,  तो अपनी रक्त शर्करा का परीक्षण अंदरुनी जगह में करने की कोशिश करें, जहाँ स्थान थोड़ा गर्म हो। यदि यह एक बहुत गर्म दिन है,  तो परीक्षण छाया में या घर के अंदर  करें जहाँ तापमान सामान्य हो।

परीक्षण के लिए रक्त की सही मात्रा सुनिश्चित करें

रक्त की एक बूंद से ही  आप सही परीक्षण परिणाम प्राप्त कर सकते हैं । इसलिए, अधिक रक्त के लिए अपनी उंगली का सिरा ज्यादा नहीं दबाएँ। इसके बजाय, अगर आप में खून की कमी है तो अपनी भुजा और हाथ नीचे लटकाएँ,  जिससे  आपकी उंगलियों में रक्त  इकट्ठा हो जाएगा। गर्म पानी से हाथ धोना भी उंगलियों से रक्त के आसान प्रवाह में मदद कर सकता है।

रक्त  निकालने के लिए सही तकनीक का पालन करें

इसके लिए कुछ सुझाव इस प्रकार हैं:

-उंगली किसी समतल और कठोर सतह पर रखने से आपकी उंगली को स्थिर रहने में मदद मिलती है।

-परीक्षण पट्टी के बाजू में या ऊपर से रक्त लगाएँ । (परीक्षण उपकरण की नियम पुस्तिका  के निर्देशानुसार।)

-परीक्षण के दौरान परीक्षण पट्टी सरकाएँ/ हिलाएँ नहीं।

मधुमेह जाँच के उपकरण रखने में सावधानी

चरम तापमान, किसी प्रकार का दूषण, धूल, नमी या किसी अन्य बाहरी वातावरण से परीक्षण पट्टियाँ  या मापने के उपकरण खराब हो सकते हैं। इससे  रक्त ग्लूकोज़ की रीडिंग बहुत बदल सकती है। इसलिए,  सुनिश्चित करें कि आप अपने  उपकरण एक उपयुक्त वातावरण में रखें।

अपने डॉक्टर के साथ अपनी रक्त शर्करा की जाँच के उचित समय के बारे में चर्चा करें

चूंकि, प्रत्येक व्यक्ति की स्थिति अलग हो सकती है, इसलिए अपनी रक्त शर्करा की जाँच करने के लिए उपयुक्त समय के बारे में अपने इलाज कर रहे डॉक्टर से पूछें । यह आपके डॉक्टर के लिए एक महत्वपूर्ण कारक हो सकता है, जिसके आधार पर वह आपके आगामी उपचार का निर्धारण करें। आपको एक दिनचर्या स्थापित करनी चाहिए कि कितनी बार और कब आप अपनी रक्त शर्करा की जाँच करेंगे क्योंकि कुछ लोगों को रक्त शर्करा की जाँच की आवश्यकता होगी जब वे खाली पेट हो और कुछ अन्य लोगों को या तो खाने के पहले या बाद, या सोने के पहले रक्त शर्करा की जाँच की आवश्यकता हो सकती है। इसके अलावा, कुछ अन्य  कारक जैसे

-आपके हार्मोन का स्तर

– कोई संक्रमण या बीमारी

-आपकी दवा भी आपके रक्त शर्करा की जाँच का समय तय कर सकती है।

-अपने रक्त शर्करा की  जाँच का उपकरण किसी के साथ साझा न करें, प्रत्येक उपयोग के बाद रक्त निकालने की सुई और  परीक्षण पट्टी फेंक दें।

-एक ही उंगली पर हर बार परीक्षण नहीं करें, विशेष रूप से एक ही दिन के दौरान । इसके अलावा, अगर एक उंगली मे तकलीफ़ हो जाती है  तो किसी अन्य उंगली का उपयोग करें.

परीक्षण स्थलों  के बारे में अधिक जानकारी

कुछ सुइयाँ ऐसी होती हैं जिन्हें रक्त की छोटी मात्रा की आवश्यकता होती है और इनका इस्तेमाल शरीर पर कहीं भी किया जा सकता है, जैसे कि ऊपरी बाँह, पेट, उंगलियाँ  या कान की लौ आदि। अन्य परीक्षण पट्टियों को उंगलियों  के रक्त की बड़ी मात्रा की आवश्यकता होती है। यदि आप अपनी उंगलियों से  रक्त खींच रहे हैं,  तो ध्यान रखें कि आप अपनी उंगली के बाजू से रक्त निकाले उसके ऊपरी सिरे से नहीं। उंगली के ठीक ऊपरी सिरे पर चुभन अधिक दर्दनाक हो सकता है ।

अपने मीटर के उचित अंशांकन सुनिश्चित करें

कभी-कभी अनजाने में, आपका  रक्त ग्लूकोज मीटर अपनी  सटीकता खो सकता है। इसलिए, मीटर के साथ दिए गए  नियंत्रण समाधान के जारी नियमित रूप से अपने मीटर  की जाँच करें। उचित तो ये होगा की आप अपने मीटर  की जाँच   हर बार करें जब आप एक नया परीक्षण स्ट्रिप्स बॉक्स  खोलें। लेकिन ऐसा नहीं करा पाएँ तो भी  नियमित रूप से आप  महीने में एक बार या  उससे पहले जाँच कर सकते हैं, अगर आपको  लगता है कि मीटर आपको गलत रीडिंग दिखा रहा है।

समय समाप्ति और असंगति के लिए अपने परीक्षण स्ट्रिप्स जाँचें

ऐसी परीक्षण स्ट्रिप्स का उपयोग नहीं करें  जिनकी समय सीमा समाप्त हो गई हो या वे पुरानी हो गई हों। इसके अलावा, कई बार परीक्षण स्ट्रिप्स केवल कुछ मीटर के साथ कार्य करती हैं,  इसलिए  सुनिश्चित करें कि आपके मीटर और परीक्षण पट्टी एक दूसरे के साथ संगत करते हैं। साथ ही, यदि आप अपने मीटर धूल भरी जगह में रखते हैं तो इससे  भी आपकी रीडिंग प्रभावित हो सकती है। इसलिए, अपने मीटर को साफ रखें और उसकी उचित देखभाल करें।

“इन सरल उपायों का पालन करके, आप निश्चित रूप से अधिक सटीकता और आराम के साथ परीक्षण कर सकते हैं और  अपनी रक्त शर्करा के स्तर और मधुमेह पर बेहतर नियंत्रण  रख सकते हैं । लेकिन,  इन चरणों का पालन करने में  विफलता से सही स्थिति जानने में भ्रम हो सकता है और यह आपके इलाज के क्रम को गलत दिशा में मोड़ सकता है।”

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.